HinduPost is the voice of Hindus. Support us. Protect Dharma

Will you help us hit our goal?

HinduPost is the voice of Hindus. Support us. Protect Dharma
29.1 C
Varanasi
Monday, August 15, 2022

लव जिहाद का विकराल स्वरुप – अब हिन्दू परिवारों को योजना बना कर किया जा रहा है तबाह, कब रुकेगा यह दावानल?

लव जिहाद ने अब एक ऐसी सामाजिक विकृति का रूप धारण कर लिया है, जो सुरसा की तरह मुँह फैलाये जा रही है, और इसके विकराल दंश को मासूम हिन्दू झेलने को अभिशप्त हो गए हैं। हम अपने लेखों में लव जिहाद से सम्बंधित घटनाओं का संकलन करते हैं, और हम चाहते हैं ऐसी घटनाएं ना हों, लेकिन बड़े दुर्भाग्य की बात है कि लव जिहाद की घटनाएं अब बढ़ती ही जा रही हैं, और इस कारण हिन्दुओं के परिवार छिन्न भिन्न भी हो रहे हैं।

सुल्तानपुर में लव जिहाद ने छिन्न भिन्न किया एक हिन्दू परिवार

ऐसी ही एक घटना 28 जून को उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले के लम्भुआ कस्बे में घटित हुई, जहां शकुंतला (50) और उनकी बेटी विजय लक्ष्मी (22) की हत्या कर दी गयी। पुलिस ने हत्यारों की पहचान मोहम्मद इरफान उर्फ सोनू और उसके साथी मोहम्मद शादान और मोहम्मद शाहबाज के रूप में की है। पुलिस के अनुसार, इरफान ने स्वीकार किया है कि उसने पहले विजय लक्ष्मी की हत्या की और बाद में उसकी मां की भी हत्या कर दी थी, क्योंकि वो अपनी बेटी की हत्या की प्रत्यक्षदर्शी थी।

इरफान, जो 26 वर्ष का है, उसने यह स्वीकार किया कि वह शकुंतला के साथ अवैध सम्बन्ध रख रहा था। उसने शकुंतला को लव जिहाद में फंसाया और अक्सर उसके घर जाया करता था। शकुंतला के पति रामसुख और उनके तीन बच्चे – आनंद, अनिल और विजय लक्ष्मी – इस रिश्ते के बारे में जानते थे। हालांकि, वे शकुंतला के इस अवैध सम्बन्ध को रोकने के सभी प्रयास करने के बाद भी असफल रहे थे । शकुंतला की बेटी विजय लक्ष्मी ने इस रिश्ते का सबसे जोरदार विरोध किया था।

पुलिस के अनुसार यह दोनों हत्याएं बड़ी नृशंसता से गला काटकर की गयी हैं। हत्याओं के संबंध में पहली सूचना रिपोर्ट (एफआईआर) उसी दिन (एफआईआर नंबर 223/2022) में लम्भुआ पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 302 (हत्या), 120 बी (आपराधिक साजिश), 201 (सबूतों को गायब करने का कारण) और 452 (घर-अतिक्रमण) के तहत दर्ज की गई थी।

पुलिस ने इरफान से पूछ ताछ करने के पश्चात बताया कि वह शकुंतला को फंसाने के बाद उसकी बेटी विजय लक्ष्मी को भी अपने जाल में फंसाने का प्रयत्न कर रहा था। हालांकि विजय लक्ष्मी ने उसकी बुरी नीयत को समझ कर ऐसे किसी भी सम्बन्ध को रखने से कड़ाई से मन कर दिया था। इससे कुपित हो कर इरफान ने विजय लक्ष्मी की हत्या करने की योजना बनाई। इस योजना में उसने अपने भाई शादान उर्फ नादान और एक स्थानीय निवासी शाहबाज को सम्मिलित किया। उसने स्थानीय बाजार से एक तेज चाकू और लोहे की छड़ खरीदी।

28 जून को शाम 4 बजे के आसपास के समय, जब रामसुख अपनी सब्जी की दुकान पर था और अनिल अपने ब्यूटी सैलून में था, तो तीनों लोग घर में घुस गए। विजय लक्ष्मी और शकुंतला के अलावा घर पर एकमात्र व्यक्ति अनिल की तीन साल की बेटी थी। शाहबाज दरवाजे पर पहरा दे रहा था जबकि अन्य दो ने विजय लक्ष्मी की हत्या कर दी। शकुंतला जब उसकी चीख-पुकार सुनकर मौके पर पहुंची, तो दोनों ने उसे
भी मौत के घाट उतार दिया। इरफान ने दोनों महिलाओं द्वारा इस्तेमाल किए गए मोबाइल फोन तोड़ दिए थे और सिम कार्ड को नष्ट कर दिए थे।

झारखंड में सामने आया लव जिहाद का मामला

झारखंड के सिमडेगा जिले के बोलबा थाना इलाके में एक मुस्लिम ने जाति-धर्म छिपाकर पहले हिन्दू युवती को प्रेम जाल में फांसा, फिर उससे विवाह कर लिया। पुलिस के अनुसार सिमडेगा निवासी मोहम्मद नईम मियां ने अपना नाम संदीप सिंह बताकर हिन्दू युवती को प्रेम जाल में फंसाया था। मोहम्मद नईम मियां ने युवती की छोटी बहन (नाबालिग) के साथ दुष्कर्म कर उसका वीडियो बना लिया था, और उसे वायरल करने की धमकी देने लगा। इस कारण दोनों बहनें बुरी तरह से डरी हुई हैं।

पुलिस ने लव जिहाद एवं नाबालिग से दुष्कर्म के आरोप लगा कर महिला थाना में धारा 376, 419, 323, 504 , ।341 एवं 46 पोस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है । पुलिस इस मामले की जांच कर रही है, वहीं लव जिहाद का मामला सामने आने के बाद यह जिहादी फरार हो गया है। पुलिस मोहम्मद नईम मियां को गिरफ्तार करने के लिए छापामारी कर रही है।

भीलवाड़ा में लव जिहाद के लिए शाहिद बना मनीष

राजस्थान के भीलवाड़ा शहर में एक जिहादी युवक शाहिद ने हिन्दू युवती को प्यार के जाल में फंसाकर उसके साथ दुष्कर्म करने के प्रयास किया। पुलिस के अनुसार ने शाहिद नामक मुस्लिम युवक ने मनीष सेन बनकर एक युवती को लव जिहाद के जाल में फंसाया। पुलिस के अनुसार यह जिहादी युवक पाली का रहने वाला है। पांच महीने पहले गंगापुर थाना सर्किल की हिन्दू युवती के इंस्टाग्राम आईडी पर इसने मित्रता निवेदन भेजा और अपना नाम मनीष सेन बताया।

बाद में दोनों के बीच मित्रता हो गयी और बातचीत होने लगी। युवक ने अपनी चिकनी चुपड़ी बातों से हिन्दू युवती को अपने प्यार के जाल में फंसाया। फिर वह उसे अपने मित्र के घर ले गया, वहां उसे नशीला पेय पदार्थ पिलाया और इसके बाद उसने हिन्दू युवती की अश्लील वीडियो बना ली और उसके साथ कुकृत्य करने का प्रयास भी किया। इसके पश्चात वह युवती को अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देने लगा।

तीन दिन पहले शाहिद इस हिन्दू युवती को बहला-फुसला कर पंचवटी के एक मकान में ले गया और उससे दुष्कर्म करने का प्रयास करने लगा । वहां हंगामा होने पर मकान मालिक बीच बचाव के लिए आया, उसे युवक पर संदेह हुआ तो उसने पहचान पात्र दिखाने को कहा, जो वह नहीं दिखा पाया। मौके पर पहुंची पुलिस ने शाहिद को शांतिभंग और दुष्कर्म के प्रयास करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया, बाद में इनकी जांच से ही पता लगा कि युवक का असली नाम शाहिद गोरी है।

यह बड़ी ही चिंताजनक स्थिति है कि कैसे जिहादी युवक हिन्दू युवतियों को लव जिहाद के मामलों में फंसा देते हैं। क्या हमारे समाज को इस विषय पर संज्ञान लेकर युवतियों और युवकों को जागरूक नहीं करना चाहिए? क्षणिक मित्रता और आनंद के लिए हमारे युवा ऐसी बुराइयों में फंस जाते हैं, और उसके पश्चात या तो वह धर्मांतरण करने को विवश हो जाते हैं, अन्यथा उनकी हत्या कर दी जाती है। इससे हजारों हिन्दू परिवार छिन्न भिन्न हो चुके हैं, और समाज में ऐसी घटनाओं के कारण नकारात्मकता भी फ़ैल रही है। हिन्दुओं को इस सामाजिक बुराई का एक दीर्घ हल जल्दी ही ढूंढना होगा।

Subscribe to our channels on Telegram &  YouTube. Follow us on Twitter and Facebook

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles

Sign up to receive HinduPost content in your inbox
Select list(s):

We don’t spam! Read our privacy policy for more info.