HinduPost is the voice of Hindus. Support us. Protect Dharma

Will you help us hit our goal?

HinduPost is the voice of Hindus. Support us. Protect Dharma
20.1 C
Varanasi
Thursday, December 2, 2021

बांग्लादेश में हिन्दुओं के साथ हुए अत्याचारों के विरोध में विश्व हिन्दू परिषद और बजरंग दल का प्रदर्शन

बांग्लादेश में हिन्दुओं के साथ जो हुआ है, उसने पूरी दुनिया को हैरानी में डाल दिया है, आम हिन्दू आक्रोशित है और इस्कॉन के मंदिर में जिस प्रकार साधुओं को घेर कर मारा, उससे पूरे विश्व में गुस्सा है, लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। भारत में भी हिंदूवादी संगठन प्रदर्शन कर रहे हैं और वहां हिन्दुओं के साथ हुए इस्लामी अत्याचारों और नरसंहार की आलोचना की।

इसी क्रम में कल विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल द्वारा मुजफ्फरनगर में शिव चौक पर बांग्लादेश में हो रहे हिंदूओ के मंदिर,हिन्दुओ के घर पर चारो और से साजिश के तहत हो रहे हमलों के विरोध में पुतला फूंका गया। मीडिया से वार्ता करते हुए विश्व हिन्दू परिषद के नगर अध्यक्ष विकास अग्रवाल ने कहा कि वर्ष 1947 में जब देश का बटवारा धर्म के आधार पर हुआ था तो आज भारत में मुस्लिम क्यो रह रहा है। बांग्लादेश और पाकिस्तान, केरल,जम्मू कश्मीर में आज हिंदू असुरक्षित महसूस कर रहा है। जिस भी इस्लामिक देश में हिंदू रह रहा है उसे भारत की नागरिकता तुरंत मिलनी चाहिए और भारत में रह रहे मुसलमानों को तुरंत इस्लामिक देशो में भेज देना चाहिए।

उन्होंने कहा कि विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल सरकार से मांग करती है कि पूरे विश्व में अगर कहीं भी किसी भी हिंदू और सनातन संस्कृति पर हमला होता है तो भारत सरकार को ठोस कदम उठाने चाहिए ताकि कोई भी देश हिंदू और सनातन संस्कृति पर हमला ना कर सके।

ज्ञापन व पुतला फूंकते समय विभाग के सह सयोजक पीयूष राणा,जिला सयोजक पुनीत पुंडीर,जिला मंत्री सोहनवीर,नगर अध्यक्ष विकास अग्रवाल,पंकज वाल्मीकि,मनीष बंसल,स्फूर्ति कोशिक, ललित मचल,विवेक शास्त्री,आयुष सिंघल,नीटू कश्यप,शिवम तायल, हेमांग कुच्छल,अमरदीप बंसल,सुनील वर्मा,शुभम कुटबा,सुनील सैनी ,अक्षित गुप्ता,महेश प्रजापति अर्जुन गर्ग आदि सेकड़ो की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles

Sign up to receive HinduPost content in your inbox

We don’t spam! Read our privacy policy for more info.