HinduPost is the voice of Hindus. Support us. Protect Dharma

Will you help us hit our goal?

HinduPost is the voice of Hindus. Support us. Protect Dharma
19.5 C
Sringeri
Monday, February 6, 2023

दिल्ली से खालिस्तानी और हरकत-उल-अंसार के आतंकी गिरफ्तार, हिन्दू नेता थे निशाने पर, डेमो के लिए हिन्दू युवक की हत्या कर बनाया था वीडियो

गणतंत्र दिवस से कुछ ही दिनों पहले दिल्ली में एक बहुत बड़े आतंकी षड़यंत्र का खुलासा हुआ है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बृहस्पतिवार 12 जनवरी की रात दो आतंकियों जगजीत सिंह उर्फ जग्गा और नौशाद को गिरफ्तार किया है। जगजीत का सम्बन्ध खालिस्तानी आतंकवादी संगठनों से है वहीं नौशाद का सम्बन्ध हरकत-उल-अंसार से है। इन दोनों आतंकियों ने उत्तरी दिल्ली में 21 साल के एक युवक का क्षत-विक्षत शव शनिवार को बरामद कराया था, जिसकी हत्या करने के बाद उन्होंने शव को 8 टुकड़ों में बांट दिया था।

इन दोनों आतंकियों ने बताया कि जिस हिन्दू युवक की हत्या की गई, वह नशे का आदी था। उन्होंने उसकी हत्या करने और शव के टुकड़े करने का करीब 37 सेकेंड का वीडियो भी कैमरे से शूट किया था, जिसे उन्होंने पाकिस्तान में बैठे अपने हैंडलर को भेजा था। उन्होंने यह वीडियो एक उदाहरण के लिए भेजा था, ताकि वह क्रूरता से हत्या करने की अपनी क्षमता का प्रदर्शन कर सकें। वहीं जगजीत सिंह ने यह वीडियो कनाडा में बैठे अपने खालिस्तानी आकाओं को भेजा था।

पुलिस ने इन दोनों आतंकियों के भलस्वा डेयरी के आदर्श नगर की श्रद्धानंद कॉलोनी स्थित ठिकाने से दो हैंड ग्रेनेड, तीन पिस्तौल और 22 कारतूस भी बरामद किए थे। यह फ्लैट नौशाद का है, जो एक इस्लामी आतंकवादी है। पुलिस को इस फ्लैट से खून के निशान भी मिले है, जिनकी जांच की जा रही है और यह पता लगाया जा रहा है कि क्या यह उसी युवक का है जिसकी इन दोनों ने नृशंसता से हत्या कर दी थी।

आरोपियों के खुलासे के पश्चात पुलिस को भलस्वा डेरी इलाके में एक नाले से शव भी मिला है। पुलिस को संदेह है कि इन दोनों ने अपने घर में उस हिन्दू युवक की हत्या की होगी और बाद में शव के टुकड़े करके उसे ठिकाने लगा दिया होगा। दिल्ली पुलिस की प्रवक्ता सुमन नलवा ने बताया कि आरोपियों को शुक्रवार को अदालत में प्रस्तुत किया गया, जिसने उन्हें 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।

डेमो बनाने के लिए हिन्दू युवक की हत्या

पुलिस के अनुसार मृतक 21 वर्ष का था और उसके हाथ में एक त्रिशूल भी बना हुआ था। नौशाद और जगजीत उससे मित्रता करने के बाद 14-15 दिसंबर की रात अपने घर ले गए थे। वहां उन्होंने पहले उसकी हत्या की और फिर उसके शव के 8 टुकड़े करने के पश्चात आसपास के इलाके में फेंक दिए। उन्होंने एक 37 सेकंड का वीडियो भी बनाया, जिसे पाकिस्तान में सोहैल नाम के व्यक्ति को भेजा, जो लश्कर-ए-तैयबा से जुड़ा हुआ है। पुलिस ने दोनों आतंकियों के मोबाइल बरामद कर लिए हैं, जिसमे हत्या का वीडियो भी मिला है।

पुलिस को जांच में पता लगा है कि नौशाद के नाम पर पहले भी हत्या, रंगदारी के कई मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस को नौशाद के हरकत-उल-अंसार आतंकी संगठन से जुड़े होने के पर्याप्त साक्ष्य भी मिल गए हैं । नौशाद कुछ समय जेल में भी बंद रहा था, जहां उसकी जान पहचान लाल किले पर हमले के आरोपी आरिफ मोहम्मद और सोहैल से हुई थी। सोहैल वर्ष 2018 में अपनी सजा पूरी करने के पश्चात पाकिस्तान वापस चला गया था। नौशाद पिछले वर्ष अप्रैल में जेल से बाहर निकला था और तभी से वह सोहैल के संपर्क में था।

दिल्ली के हिन्दू नेताओं की हत्या करने की थी योजना

ऐसा बताया जा रहा है कि दोनों दिल्ली के कुछ हिन्दू नेताओं पर हमले और हत्या करने की योजना बना रहे थे, और पाकिस्तानी आतंकी संगठनों से सहायता प्राप्त करने के लिए ही उन्होंने यह वीडियो बनाया था, ताकि वह लोग इनके काम से प्रभावित हो इन्हे पैसा और हथियार आदि दे सकें। नौशाद को सोहैल ने प्रभावशाली हिंदुओं की हत्या का लक्ष्य दिया था। इस काम के लिए उसके कतर में रहने वाले अपने साले के जरिए नौशाद को बैंक अकाउंट में 2 लाख रुपये भी भेजे थे। खुफिया एजेंसियां इसे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईइसआई का षड्यंत्र मान कर जांच कर रही है।

नौशाद 2020 में दिल्ली के जहांगीरपुरी में हुए दंगों के समय वहीं रह रहा था, लेकिन खुफिया एजेंसियों को उसकी भनक तक नहीं लगी। सूत्रों के अनुसार उसका सम्बन्ध इस्राइल दूतावास के बाहर हुई आतंकी घटना से भी जुड़ा हो सकता है। यह बड़ी ही चिंता की बात है कि इतना बड़ा अपराधी इस प्रकार खुलेआम दिल्ली में घूम रहा था और किसी को कानों कान खबर तक नहीं थी।

जगजीत को खालिस्तानी आतंकवाद को फैलाने का काम दिया गया था

जगजीत सिंह कनाडा में में रह रहे खालिस्तानी आतंकी अर्शदीप डल्ला का गुर्गा है, जो लगातार पंजाब में फिर से खालिस्तानी आतंकवाद को बढ़ाने का प्रयास कर रहा है। खुफिया एजेंसियों को पता लगा है कि जगजीत को पंजाब में खालिस्तानी आतंकी संगठनों और इस्लामिक तत्वों को आपस में जोड़ने का लक्ष्य दिया गया था। हो सकता है इसी कारण वह नौशाद के संपर्क में आया हो, जिसके सम्बन्ध इस्लामिक आतंकी संगठनो से हैं।

Subscribe to our channels on Telegram &  YouTube. Follow us on Twitter and Facebook

Related Articles

1 COMMENT

  1. Abhishek Tiwary and Gayatri Devi report that the 21 year old Hindu sacrificed in the video, who had a Trishul tattoo on his hand, was chosen specifically because of that tattoo. During the killing video, his hand with the tattoo was also cut and shown on the video. This was supposed to be a symbolic gesture showing how they will kill Hindus.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles

Sign up to receive HinduPost content in your inbox
Select list(s):

We don’t spam! Read our privacy policy for more info.